in

तालिबान को झटके पर झटका : न बनी सरकार, 600 लड़ाके भी ढेर, अब ईरान ने कर डाली ‘लोकतंत्र’ की मांग

तालिबान को झटके पर झटका : न बनी सरकार, 600 लड़ाके भी ढेर, अब ईरान ने कर डाली 'लोकतंत्र' की मांग thumbnail

Curated by

नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: Sep 5, 2021, 8:54 AM

Taliban : पिछले हफ्ते तालिबान अपनी सरकार का गठन नहीं कर पाया। आंतरिक मतभेदों के चलते यह प्रक्रिया टल गई और अब अगले हफ्ते इस संबंध में कोई फैसला लिया जाएगा। दूसरी ओर विद्रोही गुटों ने तालिबान के करीब 600 लड़ाकों को ढेर कर दिया है।

US Army in Afghanistan: अमेरिकी सैनिक अपनी ही गाड़ियों में तोड़फोड़ क्यों कर रहे? अफगानिस्तान छोड़ने के पहले का यह वीडियो देखें

हाइलाइट्स

  • एक के बाद एक तालिबान को लग रहे बड़े झटके, पंजशीर में 600 लड़ाके ढेर
  • लगातार कोशिशों के बाद भी पिछले हफ्ते नहीं बन पाई तालिबान की सरकार
  • ईरान ने की अफगानिस्तान में ‘लोगों की इच्छा से’ चुनी गई सरकार की मांग

काबुल

अफगानिस्तान के पंजशीर पर कब्जा करना तालिबान के लिए लगातार मुश्किल होता जा रहा है। पंजशीर के विद्रोही बलों का दावा है कि वह अब तक करीब 600 तालिबान लड़ाकों को मौत के घाट उतार चुके हैं। स्पुतनिक न्यूज के अनुसार विरोधी बलों के प्रवक्ता फहीम दशती ने ट्वीट कर कहा, ‘पंजशीर के अलग-अलग जिलों में सुबह से लगभग 600 तालिबान आतंकवादियों का सफाया कर दिया गया है। 1000 से अधिक तालिबानियों को पकड़ लिया गया है या वे सरेंडर कर चुके हैं।’

अभी भी कब्जे से बाहर तालिबान

पूरे देश में सिर्फ पंजशीर ही एक ऐसा प्रांत है जहां तालिबान का कब्जा नहीं है। तालिबान ने घाटी पर कब्जे का दावा किया था, जिसे अमरुल्लाह सालेह ने खारिज कर दिया। पंजशीर National Resistance Front of Afghanistan का गढ़ है, जिसका नेतृत्व अहमद मसूद और अफगानिस्तान के कार्यवाहक राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह कर रहे हैं। दोनों ही पक्ष लड़ाई में अपनी जीत का दावा कर रहे हैं।

Amrullah Saleh: तो मुझे गोली मार देना… पत्नी और बेटी की तस्वीरें जलाने के बाद बॉडीगार्ड से बोले थे अमरुल्लाह सालेह

तालिबान का जिलों पर कब्जे का दावा

हालांकि किसी के पास कोई सबूत नहीं है सिर्फ दावे हैं। अल जजीरा की रिपोर्ट के मुताबिक तालिबान के एक अधिकारी ने बताया कि पंजशीर में लड़ाई जारी थी लेकिन राजधानी बाजारक और प्रांतीय गवर्नर के परिसर की ओर जाने वाली रोड पर लैंडमाइंस बिछे होने के कारण इसकी गति धीमी हो गई। तालिबान के प्रवक्ता बिलाल करीमी ने कहा कि खिंज और उनाबा जिलों पर कब्जा कर लिया गया है, जिससे तालिबान को सात में से चार जिलों पर नियंत्रण मिल गया है।

तालिबानियों ने छोड़े हथियार और गाड़ियां

प्रवक्ता ने कहा कि तालिबानी लड़ाके प्रांत के केंद्र की ओर बढ़ रहे हैं। वहीं दूसरी ओर National Resistance Front का दावा है कि Khawak दर्रे में ‘हजारों आतंकवादियों’ को घेर लिया गया है और तालिबान ने दश्त रेवाक क्षेत्र में वाहनों और उपकरणों को छोड़ दिया है। दशती ने कहा कि बड़े पैमाने पर झड़पें जारी हैं। अहमद मसूद ने एक फेसबुक पोस्ट में कहा कि, ‘पंजशीर मजबूती से खड़ा है।’ सालेह ने कहा कि यह विद्रोही बलों के लिए एक मुश्किल समय है।

Taliban Website: तालिबान ने लॉन्च की इस्लामिक अमीरात की 6 आधिकारिक वेबसाइट, बोला- हर अपडेट मिलेगी

तालिबान नहीं बना पा रहा सरकार

सालेह ने एक वीडियो मैसेज में कहा, ‘स्थिति बेहद कठिन है। विरोध जारी है और जारी रहेगा।’ पंजशीर तालिबान के लिए अकेली समस्या नहीं है। समूह इस समय सरकार गठन की चुनौतियों का भी सामना कर रहा है। तालिबान लगातार अपनी सरकार के गठन को टाल रहा है। शनिवार को एक आधिकारिक बयान में कहा गया कि अब दो-तीन दिनों के बाद सरकार का गठन किया जाएगा। कुछ सूत्रों का दावा है कि तालिबान और हक्कानी नेटवर्क के बीच पदों के वितरण को लेकर बात नहीं बन रही है।

ईरान ने की चुनाव कराने की अपील

तालिबान ने भले ही अफगानिस्तान पर कब्जा कर लिया है लेकिन उसके बुरे दिन खत्म होने का नाम नहीं ले रहे। एक ओर बड़ी संख्या में उसके लड़ाके मारे जा चुके हैं तो वहीं दूसरी ओर वह सरकार का गठन नहीं कर पा रहा। अब समूह को अगला झटका ईरान की तरफ से मिला है। ईरान ने अफगानिस्तान में जनता द्वारा चुनी हुई सरकार बनाने की अपील की है।

ईरान ने उम्मीद जताई है कि अफगानिस्तान के सफल भविष्य के लिए चुनाव बेहद जरूरी हैं और इससे देश में शांति बहाल की जा सकेगी। ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रायसी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि अफगानिस्तान में एक ऐसी सरकार बननी चाहिए जो लोगों के वोटों और इच्छा से चुनी गई हो। हम लोगों द्वारा चुनी गई सरकार का समर्थन करते हैं।

Taliban Government

तालिबान सरकार का नहीं हो पा रहा गठन (प्रतीकात्मक फोटो)

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुक पेज लाइक करें

Web Title : many taliban fighters were killed in panjshir by afghan resistance forces iran demands election

Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

GIPHY App Key not set. Please check settings

जमीन विवाद में तीन लोगों को गोलियों से भूना, दो की मौके पर मौत, वारदात के बाद जमकर हंगामा thumbnail

जमीन विवाद में तीन लोगों को गोलियों से भूना, दो की मौके पर मौत, वारदात के बाद जमकर हंगामा

तालिबान के अंदर बनी खाई पाटने पहुंचे पाकिस्तानी ISI के चीफ, पर अफगान जनता भड़की thumbnail

तालिबान के अंदर बनी खाई पाटने पहुंचे पाकिस्तानी ISI के चीफ, पर अफगान जनता भड़की