in

महात्मा गांधी के कहने पर सावरकर ने अंग्रेजों के सामने लगाई थी दया याचिका, बोले राजनाथ सिंह

महात्मा गांधी के कहने पर सावरकर ने अंग्रेजों के सामने लगाई थी दया याचिका, बोले राजनाथ सिंह thumbnail

Edited by | पीटीआई | Updated: Oct 13, 2021, 8:33 AM

राजनाथ सिंह ने कहा कि एक खास विचारधारा से प्रभावित तबका वीर सावरकर के जीवन एवं विचारधारा से अपरिचित है। उन्हें इसकी सही समझ नहीं है, वे सवाल उठाते रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि हमारे राष्ट्र नायकों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व के बारे में वाद प्रतिवाद हो सकते हैं लेकिन उन्हें हेय दृष्टि से देखना किसी भी तरह से उचित और न्यायसंगत नहीं कहा जा सकता है।

महात्‍मा गांधी के कहने पर सावरकर ने लगाई थी दया याचिका: राजनाथ सिंह

हाइलाइट्स

  • ‘वीर सावरकर हु कुड हैव प्रीवेंटेड पार्टिशन’ किताब के विमोचन में पहुंचे रक्षा मंत्री
  • राजनाथ सिंह ने कहा- सावरकर को अपमानित करना माफी के योग्य नहीं
  • कहा- सावरकर पर फांसीवादी का आरोप लगाने वाले मार्क्सवादी विचारधारा से प्रेरित

नई दिल्ली

भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मंगलवार को कहा कि राष्ट्र नायकों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व के बारे में वाद प्रतिवाद हो सकते हैं लेकिन विचारधारा के चश्मे से देखकर वीर सावरकर के योगदान की उपेक्षा करना और उन्हें अपमानित करना क्षमा योग्य और न्यायसंगत नहीं है। राजनाथ सिंह ने कहा कि अंग्रेजों के समक्ष दया याचिका के बारे में एक खास वर्ग के लोगों के बयानों को गलत ठहराते हुए यह दावा किया कि महात्मा गांधी के कहने पर सावरकर ने अंग्रेजों के समक्ष दया याचिका दी थी। उन्होंने कहा कि सावरकर के बारे में झूठ फैलाया गया।

जिन्हें सही समझ नहीं है, वे सवाल उठाते रहे हैं

राजनाथ सिंह ने उदय माहूरकर और चिरायु पंडित की पुस्तक ‘वीर सावरकर हु कुड हैव प्रीवेंटेड पार्टिशन’ के विमोचन कार्यक्रम में यह बात कही। इसमें सरसंघचालक मोहन भागवत ने भी हिस्सा लिया। सिंह ने कहा कि एक खास विचारधारा से प्रभावित तबका वीर सावरकर के जीवन एवं विचारधारा से अपरिचित है और उन्हें इसकी सही समझ नहीं है, वे सवाल उठाते रहे हैं।’ उन्होंने कहा कि हमारे राष्ट्र नायकों के व्यक्तित्व एवं कृतित्व के बारे में वाद प्रतिवाद हो सकते हैं लेकिन उन्हें हेय दृष्टि से देखना किसी भी तरह से उचित और न्यायसंगत नहीं कहा जा सकता है। राजनाथ सिंह ने कहा कि वीर सावरकर महान स्वतंत्रता सेनानी थे, ऐसे में विचारधारा के चश्मे से देखकर उनके योगदान की अनदेखी करना और उनका अपमान करना क्षमा योग्य नहीं है।

आजादी के बाद से ही वीर सावरकर को बदनाम करने की मुहिम चलाई गई: मोहन भागवत


अंग्रेजों ने उन्हें दो बार आजीवन कारावास की सजा सुनाई

उन्होंने कहा कि वीर सावरकर महानायक थे, हैं और भविष्य में भी रहेंगे। देश को आजाद कराने की उनकी इच्छा शक्ति कितनी मजबूत थी, इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि अंग्रेजों ने उन्हें दो बार आजीवन कारावास की सजा सुनाई, कुछ विशेष विचारधारा से प्रभावित लोग ऐसे राष्ट्रवादी पर सवालिया निशान लगाने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि कुछ लोग उन पर (सावरकर) नाजीवादी, फासीवादी होने का आरोप लगाते हैं लेकिन सच्चाई यह है कि ऐसा आरोप लगाने वाले लोग लेनिनवादी, मार्क्सवादी विचारधारा से प्रभावित थे और अभी भी हैं। सिंह ने कहा कि सीधे शब्दों में कहें तो सावरकर ‘यथार्थवादी’ और ‘राष्ट्रवादी’ थे जो बोल्शेविक क्रांति के साथ स्वस्थ लोकतंत्र की बात करते थे।

दिग्विजय ने विभाजन के लिए वीर सावरकर को जिम्मेदार बताया, मोदी पर भी साधा निशाना


हिन्दू शब्द किसी धर्म, पंथ या मजहब से जुड़ा नहीं था

उन्होंने कहा कि हिन्दुत्व को लेकर सावरकर की एक सोच थी जो भारत की भौगोलिक स्थिति और संस्कृति से जुड़ी थी। उनके लिये हिन्दू शब्द किसी धर्म, पंथ या मजहब से जुड़ा नहीं था बल्कि भारत की भौगोलिक एवं सांस्कृतिक पहचान से जुड़ा था। उन्होंने कहा कि इस सोच पर किसी को आपत्ति हो सकती है लेकिन इस विचार के आधार पर नफरत करना उचित नहीं है।

rajnath singh

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐप

लेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

Web Title : defence minister rajnath singh said mahatma gandhi asked veer savarkar to file mercy petitions

Hindi News from Navbharat Times, TIL Network

Read More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

GIPHY App Key not set. Please check settings

Afghanistan should not be allowed to become source of terrorism regionally & globally: Modi thumbnail

Afghanistan should not be allowed to become source of terrorism regionally & globally: Modi

Developers can now submit beta apps to TestFlight for macOS [U: Now available]

Taurasi frustrated by WNBA’s travel constraints